मेम्बर बने :-

Wednesday, May 15, 2019

राष्ट्रीय पत्रिका में मेरी कविता


मेरी कविता वनिता पत्रिका मई'2019 अंक में प्रकाशित हुई है।



Monday, April 29, 2019

सूचना

दोस्तों! 

किन्ही  परिहार्य कारणों से, मैं कुछ समय के लिए इस ब्लॉग जगत पर अनुपस्थित रहूँगा।

जल्द मिलने की आशा में आपका - 
राकेश कुमार श्रीवास्तव 'राही'
  

Monday, April 22, 2019

मित्र मंडली - 118




एक अनुरोध : G+ के जाने से पाठकों एवं रचनाकारों को नए पोस्ट खोजने में परेशानी हो रही है। इस समस्या से निपटने के लिए दो उपाए हैं : 1. अपने ब्लॉग पर रीडिंग लिस्ट को क्लिक कर अपने पसंदीदा ब्लॉग के नए पोस्ट को क्रमवार सूची में देख एवं पढ़ सकते हैं।  2. अगर आपको कोई ब्लॉग अच्छा लगता है तो उस ब्लॉग को अनुशरण करें ताकि उस ब्लॉग का पोस्ट आपके रीडिंग लिस्ट में आ सके। 
धन्यवाद !
आपका - राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही" 
इस सप्ताह के पांच  रचनाकार

गीत उगाए हैं !!!

मीना शर्मा जी 

मैं समाना चाहती हूँ


श्वेता सिन्हा जी 

स्त्री प्रेम की पराकाष्ठा को स्थापित करती अद्भूत रचना। 

अजगर - ए - ' आजम '

विश्व मोहन जी

बेटियां

कैलाश शर्मा जी 

ललकी की पाती सीएम के नाम

 शशि गुप्ता जी 

नोट : पुराने मित्र-मंडली पोस्टों को मैंने मित्र-मंडली पेज पर सहेज दिया है और अब से प्रकाशित मित्र-मंडली का पोस्ट 7 दिन के बाद केवल मित्र-मंडली पेज पर ही दिखेगा, जिसका लिंक नीचे दिया जा रहा है : https://rakeshkirachanay.blogspot.com/p/blog-page_25.html मित्र-मंडली के प्रकाशन का उद्देश्य मेरे मित्रों की रचना को ज्यादा से ज्यादा पाठकों तक पहुँचाना है। आप सभी पाठकगण से निवेदन है कि दिए गए लिंक के पोस्ट को पढ़ कर, टिप्पणी के माध्यम से अपने विचार जरूर लिखें। विश्वास करें ! आपके द्वारा दिए गए विचार लेखकों के लिए अनमोल होगा।





Monday, April 15, 2019

मित्र मंडली -117



एक अनुरोध : G+ के जाने से पाठकों एवं रचनाकारों को नए पोस्ट खोजने में परेशानी हो रही है। इस समस्या से निपटने के लिए दो उपाए हैं : 1. अपने ब्लॉग पर रीडिंग लिस्ट को क्लिक कर अपने पसंदीदा ब्लॉग के नए पोस्ट को क्रमवार सूची में देख एवं पढ़ सकते हैं।  2. अगर आपको कोई ब्लॉग अच्छा लगता है तो उस ब्लॉग को अनुशरण करें ताकि उस ब्लॉग का पोस्ट आपके रीडिंग लिस्ट में आ सके। 
धन्यवाद !
आपका - राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही" 
इस सप्ताह के छह रचनाकार

एक कहानी अनजानी !

मीना शर्मा जी 

"उस पार"

मीना भारद्वाज  जी 

मछुआरों की तंगहाली और मजबूरियों को आत्मसात करती भावपूर्ण रचना।



श्वेता सिन्हा जी 

प्यार के सुखद पल एवं स्त्री के कोमल भावनाओं को व्यक्त करती सुंदर भावपूर्ण रचना।

बेटी----माटी सी

काठमांडू, पशुपति-निवास हूँ!

विश्व मोहन जी

कहीं हम न हैं

पुरुषोत्तम कुमार सिन्हा जी 


नोट : पुराने मित्र-मंडली पोस्टों को मैंने मित्र-मंडली पेज पर सहेज दिया है और अब से प्रकाशित मित्र-मंडली का पोस्ट 7 दिन के बाद केवल मित्र-मंडली पेज पर ही दिखेगा, जिसका लिंक नीचे दिया जा रहा है : https://rakeshkirachanay.blogspot.com/p/blog-page_25.html मित्र-मंडली के प्रकाशन का उद्देश्य मेरे मित्रों की रचना को ज्यादा से ज्यादा पाठकों तक पहुँचाना है। आप सभी पाठकगण से निवेदन है कि दिए गए लिंक के पोस्ट को पढ़ कर, टिप्पणी के माध्यम से अपने विचार जरूर लिखें। विश्वास करें ! आपके द्वारा दिए गए विचार लेखकों के लिए अनमोल होगा।




Monday, April 8, 2019

मित्र मंडली - 116


एक अनुरोध : G+ के जाने से पाठकों एवं रचनाकारों को नए पोस्ट खोजने में परेशानी हो रही है। इस समस्या से निपटने के लिए दो उपाए हैं : 1. अपने ब्लॉग पर रीडिंग लिस्ट को क्लिक कर अपने पसंदीदा ब्लॉग के नए पोस्ट को क्रमवार सूची में देख एवं पढ़ सकते हैं।  2. अगर आपको कोई ब्लॉग अच्छा लगता है तो उस ब्लॉग को अनुशरण करें ताकि उस ब्लॉग का पोस्ट आपके रीडिंग लिस्ट में आ सके। 
धन्यवाद !
आपका - राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही" 
इस सप्ताह के छह रचनाकार 

कुसुम कोठारी जी 

अनुराधा चौहान जी 

आकुल रश्मियाँ

श्वेता सिन्हा जी 

अँधेरे में रौशनी फैलाती और नारी की जज्बातों को व्यक्त करती भावपूर्ण रचना।


मौसम है सुहाना दिल का



लोकेश नशीने जी 

सदियों पुराने रोग इश्क़ पर अपनी खट्टी, मीठी राय प्रस्तुत करती सुंदर रचना।

चुप्पी

नोट : पुराने मित्र-मंडली पोस्टों को मैंने मित्र-मंडली पेज पर सहेज दिया है और अब से प्रकाशित मित्र-मंडली का पोस्ट 7 दिन के बाद केवल मित्र-मंडली पेज पर ही दिखेगा, जिसका लिंक नीचे दिया जा रहा है : https://rakeshkirachanay.blogspot.com/p/blog-page_25.html मित्र-मंडली के प्रकाशन का उद्देश्य मेरे मित्रों की रचना को ज्यादा से ज्यादा पाठकों तक पहुँचाना है। आप सभी पाठकगण से निवेदन है कि दिए गए लिंक के पोस्ट को पढ़ कर, टिप्पणी के माध्यम से अपने विचार जरूर लिखें। विश्वास करें ! आपके द्वारा दिए गए विचार लेखकों के लिए अनमोल होगा।



Friday, March 8, 2019

नारी - हिम्मत कर हुंकार तू भर ले



Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers



#नारी - हिम्मत कर हुंकार तू भर ले#

नारी के हालात नहीं बदले,
हालात अभी, जैसे थे पहले,
द्रौपदी अहिल्या या हो सीता,
इन सब की चीत्कार तू सुन ले। 

राम-कृष्ण अब ना आने वाले,
अपनी रक्षा अब खुद तू कर ले,
सतयुग, त्रेता, द्वापर युग बीता,
कलयुग में अपना रूप बदल ले।

लक्ष्य कठिन है, फिर भी तू चुन ले,
मंजिल अपनी अब तू तय कर ले,
अपनी दृढ़ इच्छा शक्ति के साथ,
अपना जीवन तू जी भर जी ले। 

जो भी हैं अबला कहने वाले,
हक़ यूँ नहीं तुम्हें देने वाले,
उनसे क्या आशा रखना जिसने,
मुँह से छीन ली तेरे निवाले। 

बेड़ियाँ हैं अब टूटने वाली,
मुक्ति-मार्ग सभी तेरे हवाले,
लक्ष्मी, इंदरा, कल्पना जैसी,
दम लगा कर हुंकार तू भर ले।

-© राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"




Friday, February 8, 2019

मेरे तो करतार हैं।


Featured post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers

Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers


"मेरे तो करतार हैं।"

अब जुबाँ, पर है, सिर्फ, एक नाम तेरा
और मेरे, दिल में, है तस्वीर तेरी,
अब तू, भी, नहीं है, इस, नश्वर जगत में,
पर अक्सर, दिखते हो, नज़रों को मेरी। 

खोया, रहता हूँ, मैंख्यालों में तेरे,
बरसती है अक्सर, फैज़, मुझ पर तेरी
तेरे बिन, अब तो, मैं, जी ना पाऊँगा,
मेरी धड़कने, हो गई, अब तो तेरी। 

मैं तो, अधम था, तभी, मिला साथ तेरा,
तू ना होता, तो, क्या, गत होती मेरी,
इस नाचीज राहीको, जानते हैं सब
और, कुछ भी नहीं, बस, रहमत है तेरी। 

अक्सर, मदद, के लिए, बढ़ा हाथ तेरा,
देखा है करिश्मा , मैंने भी तेरा,
वास्ता, जिसका ना था, कभी भी तुमसे
वो, क्या जानता, क्या, शख्सियत थी तेरी। 

हम सब, बैठे हैं, अब ख्यालों में तेरे,
मेरी आँखों, में बस, मूरत है तेरी,
तू ही, महबूब हो, हो, करतार मेरे,
 इन नैनों को है, अब चाहत, बस तेरी।


अब जुबाँ, पर हैसिर्फ, एक नाम तेरा
और मेरे, दिल में, है तस्वीर तेरी

-© राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"




Wednesday, January 9, 2019

FACE OF COMMON MAN - 13



Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers
A DRUMMER AT Yamnotri Temple  , Uttrakhand, India,

-© राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"

Friday, January 4, 2019

वक़्त


वक़्त
Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers

"वक़्त"  

वक़्त तो गुजरने के लिए होता है,
वक़्त ही ख़ुशी-गम का सबब  होता है.

वक़्त एक सा होता है इस शहर में,
उसी पल मातम कहीं जश्न होता है.

अपने आप पर गुरुर ना कर ऐ दोस्त,
एक वक़्त, राजा भी यहाँ रोता है.

मुक़द्दर देगा तेरे दर पर दस्तक,
वक़्त है कर्म का और तू सोता है.

वक़्त खुद ही रंग दिखाएगा इक दिन,
तू सब्र कर, होने दे जो होता है. 

वक़्त आ गया है जब बीज बोने का,
तू सुनहरे मौके को क्यूँ खोता है.

वक़्त की जो कद्र नहीं करते "राही",
वो अपनी किस्मत पर सदा रोता है.

-© राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"




Tuesday, January 1, 2019

MEME SERIES - 23


Biweekly Edition (पाक्षिक संस्करण) 02 Jan '2018 to 15 Jan'2018

मीम (MEME)

"यह एक सैद्धांतिक इकाई है जो सांस्कृतिक विचारों, प्रतीकों या मान्यताओं आदि को लेखन, भाषण, रिवाजों या अन्य किसी अनुकरण योग्य विधा के माध्यम से एक मस्तिष्क से दूसरे मस्तिष्क में पहँचाने का काम करती है। "मीम" शब्द प्राचीन यूनानी शब्द μίμημα; मीमेमा का संक्षिप्त रूप है जिसका अर्थ हिन्दी में नकल करना या नकल उतारना होता है। इस शब्द को गढ़ने और पहली बार प्रयोग करने का श्रेय ब्रिटिश विकासवादी जीवविज्ञानी रिचर्ड डॉकिंस को जाता है जिन्होने 1976 में अपनी पुस्तक "द सेल्फिश जीन" (यह स्वार्थी जीन) में इसका प्रयोग किया था। इस शब्द को जीन शब्द को आधार बना कर गढ़ा गया था और इस शब्द को एक अवधारणा के रूप में प्रयोग कर उन्होने विचारों और सांस्कृतिक घटनाओं के प्रसार को विकासवादी सिद्धांतों के जरिए समझाने की कोशिश की थी। पुस्तक में मीम के उदाहरण के रूप में गीत, वाक्यांश, फैशन और मेहराब निर्माण की प्रौद्योगिकी इत्यादि शामिल है।"- विकिपीडिया से साभार.

MEME SERIES - 23

By looking at this picture you might be having certain reaction in your mind, through this express your reaction as the title or the  caption. The selected title or caption of few people will be published in the next MEME SERIES POST.

इस तस्वीर को देख कर आपके मन में अवश्य ही किसी भी प्रकार के प्रतिक्रिया उत्पन्न हुई होगी, तो उसी को शीर्षक(TITLE) या अनुशीर्षक(CAPTION)के रूप में व्यक्त करें। चुने हुए शीर्षक(TITLE) या अनुशीर्षक(CAPTION)को अगले MEME SERIES POST में प्रकाशित की जाएगी।

 उल्टा तोता, क्या सोचता?
Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers***********************************************************************************************************

The next edition will be published on  JANUARY 16, 2018. If you have similar type of picture on your blog, leave a link of your post in my comments section. I will link your posts on my blog in the next edition. Thank you very much dear friends for all your valuable captions for MEME SERIES-22 . Your participation and thoughts are deeply appreciated by me. Some of the best captions are listed below.

अगला संस्करण 02 जनवरी, 2018 को प्रकाशित किया जाएगा। यदि आपके ब्लॉग पर इस तरह की कोई तस्वीर है, तो अपने पोस्ट का लिंक मेरी टिप्पणी अनुभाग में लिख दें। मैं अगले संस्करण में अपने ब्लॉग पर आपका पोस्ट लिंक कर दूंगा। मेरे प्रिय मित्रों, आपके सभी बहुमूल्य शीर्षक(TITLE) या अनुशीर्षक(CAPTION) के लिए धन्यवाद। MEME SERIES-22 के पोस्ट पर आपकी भागीदारी और विचारों ने मुझे बहुत प्रभावित किया, उनमें से कुछ बेहतरीन कैप्शन नीचे उल्लेखित हैं। 


MEME SERIES-22 के बेहतरीन कैप्शन


Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers

1. वृक्षों को काट खड़े किए कंक्रीट के जंगल,
   प्रगति नहीं ये बस अमंगल ही अमंगल।
2. प्रगति के नाम पर वृक्षों से खिलवाड़,
    हमें नहीं तुम खुद को रहे उजाड़।................................................Abhilasha Chauhan


Self destruction in action. .....................................................  Indrani Ghose

पाला तुम्हें प्यार से
ठंडी छांव दी प्राण वायु दी
फल दिये और अब अपना बसेरा बसाने को सब उजाड़ रहे।
कृत्घन!........................................................................................
Kusum Kothari

कंक्रीट-सीमेंट-सरिया के जंगल में उपेक्षित पेड़. ..................................Ravindra Singh Yadav