मेम्बर बने :-

Wednesday, January 31, 2018

फोटोग्राफी : पक्षी 46 (Photography : Bird 46 )


Photography: (dated 12  12 2017 11:30 AM )

Place : Kapurthala, Punjab, India

Spotted dove

The spotted dove is a small and somewhat long-tailed pigeon which is a common resident breeding bird across its native range on the Indian Subcontinent and Southeast Asia. The species has been introduced into many parts of the world. 
This dove is long tailed buff brown with a white-spotted black collar patch on the back and sides of the neck. The tail tips are white and the wing coverts have light buff spots. It is sometimes also called the mountain dove, pearl-necked dove or lace-necked dove.

Scientific name:  Spilopelia chinensis

Photographer   :  Rakesh kumar srivastava

पर्की या चित्रोक फाख्ता आकार में छोटा और लंबी पूंछ वाला कबूतर है, जो भारतीय उपमहाद्वीप और दक्षिणपूर्व एशिया के अलावा दुनिया के कई हिस्सों में पाया जाता है। 
इस कबूतर के गर्दन पर मोतियों के हार जैसा धब्बा होता है एवं पंखों पर सफ़ेद चमकता हुआ धब्बा होता है। इसे कभी-कभी माउंटेन डव, पर्ल-नेक्ड डव या लेस-नेक्ड डव भी कहा जाता है।

वैज्ञानिक नाम: स्पिलाोपेलिया चिन्नेसिस

फोटोग्राफर: राकेश कुमार श्रीवास्तव

अन्य भाषा में नाम:-
Bengali: তিলা ঘুঘু; French: Tourterelle tigrine; Hindi: फाख्ता, पर्की, चित्रोक फाख्ता;               Kannada: ಚೋರೆಹಕ್ಕಿ; Malayalam: അരിപ്രാവ്; Marathi: ठिपकेदार होला; Nepali: कुर्ले ढुकुर; Tamil: மணிப்புறா






-© राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"



Monday, January 29, 2018

मित्र मंडली -54





मित्रों , 
"मित्र मंडली" का चौबनवाँ अंक का पोस्ट प्रस्तुत है।इस पोस्ट में मेरे ब्लॉग के फॉलोवर्स/अनुसरणकर्ताओं के हिंदी पोस्ट की लिंक के साथ उस पोस्ट के प्रति मेरी भावाभिव्यक्ति सलंग्न है। पोस्टों का चयन साप्ताहिक आधार पर किया गया है। इसमें दिनांक 22.01.2018  से 28.01.2018 तक के हिंदी पोस्टों का संकलन है।


पुराने मित्र-मंडली पोस्टों को मैंने मित्र-मंडली पेज पर सहेज दिया है और अब से प्रकाशित मित्र-मंडली का पोस्ट 7 दिन के बाद केवल मित्र-मंडली पेज पर ही दिखेगा, जिसका लिंक नीचे दिया जा रहा है : HTTPS://RAKESHKIRACHANAY.BLOGSPOT.IN/P/BLOG-PAGE_25.HTML मित्र-मंडली के प्रकाशन का उद्देश्य मेरे मित्रों की रचना को ज्यादा से ज्यादा पाठकों तक पहुँचाना है। आप सभी पाठकगण से निवेदन है कि दिए गए लिंक के पोस्ट को पढ़ कर, टिप्पणी के माध्यम से अपने विचार जरूर लिखें। विश्वास करें ! आपके द्वारा दिए गए विचार लेखकों के लिए अनमोल होगा। 
प्रार्थी 
राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"

मित्र मंडली -54  

इस सप्ताह के सात रचनाकार 

गणतंत्र यानि...

श्वेता सिन्हा जी 

"हम सभी केवल अपनी अधिकारों की बातें करते हैं । इसी के मद्देनज़र 1976 में नागरिकों के कर्तव्यों को संविधान में जोड़ा गया। परन्तु इस भागमभाग की ज़िन्दगी में कहीं ना कहीं हम नैतिकता को अनदेखी करते हैं। विचारणीय आलेख और व्यंग करती कविता। सुन्दर प्रस्तुति। "

रेणु  बाला जी  


सरकारी आयोजन मात्र नहीं हैं राष्ट्रीय त्यौहार



कविता  रावत जी 

इक दुर्घटना

पुरुषोत्तम कुमार सिन्हा जी 

ये ज़िन्दगी!

विजय बोहरा  जी

इश्क़ है

पंकज भूषण पाठक जी


आशा है कि मेरा प्रयास आपको अच्छा लगेगा ।  आपका सुझाव अपेक्षित है। अगला अंक 05-02-2018  को प्रकाशित होगा। धन्यवाद ! अंत में ....
मेरी दो प्रस्तुति  : 

http://rakeshkirachanay.blogspot.com/2018/01/45-photography-bird-45.html

Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers



2 तकनीकी युग के बच्चे


http://rakeshkirachanay.blogspot.com/2018/01/blog-post_26.html


Friday, January 26, 2018

तकनीकी युग के बच्चे




तकनीकी युग के बच्चे 
takaniki yug ke bachche
बारिश के पानी में, 
baarish ke paanee mein, 
कागज़ की नाव चलाना, 
kaagaz kee naav chalaana, 
खुले मैदान में तब, 
khule maidaan mein tab, 
पतंग से पेंच लड़ाना।  
patang se pench ladaana. 
ये कल की थी बातें, 
ye kal kee thee baaten, 
अब नया है ज़माना। 
ab naya hai zamaana. 
खेल को नहीं समझें, 
khel ko nahin samajhen, 
सभी, समय की बर्बादी, 
sabhi, samay kee barbaadee, 
गर्व हो देश को भी,  
garv ho desh ko bhee, 
ऐसा खेल है दिखाना।  
aisa khel hai dikhaana. 
वो कल की थी बातें,
vo kal kee thee baaten,
अब नया है ज़माना। 
ab naya hai zamaana. 
खेल-खेल में सीखें,
khel-khel mein seekhen,
हमसब, ज्ञान भरी बातें, 
hamasab, gyaan bharee baaten, 
हम को तो आता है,
ham ko to aata hai,
ये इंटरनेट चलाना।  
ye intaranet chalaana. 
वो कल की थी बातें,
vo kal kee thee baaten,
अब नया है ज़माना। 
ab naya hai zamaana.
माना अबोध हैं हम,
maana abodh hain ham,
आप निगरानी में रखें,
aap nigaraanee mein rakhen,
मगर न हमको रोकें, 
magar na hamako roken, 
 कंप्यूटरों को चलाना।  
kampyootaron ko chalaana. 
वो कल की थी बातें,
vo kal kee thee baaten,
अब नया है ज़माना। 
ab naya hai zamaana. 
ना रहे पुराने दिन,
na rahe puraane din,
ना ही वो तौर-तरीके,
na hee vo taur-tareeke,
बढ़ना है हमसब को,
badhana hai hamasab ko,
है तकनीक का ज़माना।    
hai takaneek ka zamaana. 
वो कल की थी बातें,
vo kal kee thee baaten,
अब नया है ज़माना। 
ab naya hai zamaana. 
-© राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"
 -© Rakesh Kumaar Shrivastava "Rahi"


Wednesday, January 24, 2018

फोटोग्राफी : पक्षी 45 (Photography : Bird 45 )


Photography: (dated 25  09 2017 07:00 AM )

Place : Kapurthala, Punjab, India

Indian jungle crow

Indian Jungle Crow is a species of crow found in the southern Indian subcontinent south of the Himalayas. This glossy all-black crow has a heavy black bill with an arching culmen and the feathers have a purple gloss throughout. The tail of the Indian jungle crow is rounded and the legs and feet are stout. The calls of Indian jungle crow is similar to the house crow, but are harsher.

Scientific name:  Corvus culminatus

Photographer   :  Rakesh kumar srivastava

भारतीय जंगल कौआ, हिमालय के दक्षिणी भारतीय उपमहाद्वीप में पाए जाने वाली कौआ की एक प्रजाति है। इस काली चमकदार कौआ में एक बड़ा नुकीला चोंच होता है जिसका ऊपरी भाग वृत्त-खंड लिए होता है और पंखों में पूरे बैंगनी चमक होता है। भारतीय जंगल कौवा की पूंछ गोल है और पैर एवं पंजा मजबूत होते हैं। भारतीय जंगल कौवा की आवाज घर की कौआ के समान ही है, लेकिन ज्यादा कर्कश है। 
वैज्ञानिक नाम: कोर्वस कल्किनाटस
फोटोग्राफर: राकेश कुमार श्रीवास्तव
अन्य भाषा में नाम:-
Bengali: দাঁড় কাক; Gujarati: ગિરનારી કાગડો;  Malayalam: ബലിക്കാക്ക; Marathi: डोमकावळा, जंगली कावळा; Nepali: कालो काग; Sanskrit: वन काक, काकोल; Tamil: அண்டங்காக்கை; Telugu: మాలకాకి; 







Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers


-© राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"



Monday, January 22, 2018

मित्र मंडली -53




सरस्वती पूजा और बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएँ 
एवं 
दिलीप कुमार राय, हरिलाल उपाध्याय एवं  विजय आनंद की जयंती पर इन सभी रचनाकारों को नमन। 
मित्रों , 
"मित्र मंडली" का तिरपन वाँ अंक का पोस्ट प्रस्तुत है।इस पोस्ट में मेरे ब्लॉग के फॉलोवर्स/अनुसरणकर्ताओं के हिंदी पोस्ट की लिंक के साथ उस पोस्ट के प्रति मेरी भावाभिव्यक्ति सलंग्न है। पोस्टों का चयन साप्ताहिक आधार पर किया गया है। इसमें दिनांक 15.01.2018  से 21.01.2018 तक के हिंदी पोस्टों का संकलन है।


पुराने मित्र-मंडली पोस्टों को मैंने मित्र-मंडली पेज पर सहेज दिया है और अब से प्रकाशित मित्र-मंडली का पोस्ट 7 दिन के बाद केवल मित्र-मंडली पेज पर ही दिखेगा, जिसका लिंक नीचे दिया जा रहा है : HTTPS://RAKESHKIRACHANAY.BLOGSPOT.IN/P/BLOG-PAGE_25.HTML मित्र-मंडली के प्रकाशन का उद्देश्य मेरे मित्रों की रचना को ज्यादा से ज्यादा पाठकों तक पहुँचाना है। आप सभी पाठकगण से निवेदन है कि दिए गए लिंक के पोस्ट को पढ़ कर, टिप्पणी के माध्यम से अपने विचार जरूर लिखें। विश्वास करें ! आपके द्वारा दिए गए विचार लेखकों के लिए अनमोल होगा। 
प्रार्थी 
राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"

मित्र मंडली -53  

इस सप्ताह के नौ रचनाकार 

मीना शर्मा जी 

बवाल

श्वेता सिन्हा जी 

"स्त्री के मनःस्थिति को उजागर करती  सुन्दर भाव पूर्ण प्रस्तुति।  "

रेणु  बाला जी  

"रात का अपना सम्मोहन होता है, परन्तु रात के दो काल खंड है पहला खंड सृजनात्मक होता है, जिसका जिक्र बखूबी इस लेख में किया गया है और दूसरा खंड विनाश का होता है जिसमें अपराधिक प्रवृति प्रबल होती है । सुन्दर प्रस्तुति।  "

ब्लॉगर और अपरिचित लेखको के रचना को “कचरा साहित्य” के नाम से पहचाना जाता है..

रिंकी राउत  जी 


विश्व मोहन जी

कि कैसे इक समंदर एक सूरज को निगलता है ........

कहानी प्रेम की ...

दिगम्बर नसवा  जी 

" प्रेम तो शाश्वत है हमें प्रेम के अनुकूल बनना है। जंगली फूल सर्द मौसम में नहीं खिलते परन्तु मौसम का मिजाज जैसे ही अनुकूल होगा फूल स्वयं खिल उठते हैं। विचारणीय प्रस्तुति - स्वयं को अनुकूल बनाए रखें। " 

रवींद्र सिंह यादव जी 

आशा है कि मेरा प्रयास आपको अच्छा लगेगा ।  आपका सुझाव अपेक्षित है। अगला अंक 29-01-2018  को प्रकाशित होगा। धन्यवाद ! अंत में ....
मेरी दो प्रस्तुति  : 

http://rakeshkirachanay.blogspot.in/2018/01/44-photography-bird-44.html
Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers