मेम्बर बने :-

Wednesday, May 30, 2018

फोटोग्राफी : पक्षी 56 (Photography : Bird 56 )


Photography: (dated 03 04 2018 07 :30 AM )

Place : Kapurtala, Punjab, India

House crow

The house crow, also known as the Indian, greynecked, Ceylon or Colombo crow, is a common bird of the crow family that is of Asian origin but now found in many parts of the world, where they arrived assisted by shipping. It is between the jackdaw and the carrion crow in size (40 cm (16 in) in length) but is slimmer than either. The forehead, crown, throat and upper breast are a richly glossed black, whilst the neck and breast are a lighter grey-brown in colour. The wings, tail and legs are black. There are regional variations in the thickness of the bill and the depth of colour in areas of the plumage.
crows live in a group called a murder.

  
Scientific name:  Corvus splendens
Photographer   :  Rakesh kumar srivastava

कौवा , जिसे भारतीय, ग्रेनेक्ड, सिलोन या कोलंबो क्रो के नाम से भी जाना जाता है, जो एशियाई मूल की कौवा परिवार का एक आम पक्षी है, लेकिन शिपिंग की सहायता से अब दुनिया के कई हिस्सों में पाया जाता है। इसकी लंबाई जैकडॉ और कैरियन कौवा के बीच है (लंबाई में 40 सेमी (16 इंच)) लेकिन यह उनसे पतला है। माथे, गले और ऊपरी भाग का रंग पर चमकता हुआ काला होता है, जबकि गर्दन और छाती का रंग में हल्का धूसर-भूरा होता है। पंख, पूंछ और पैर काले होते  हैं। चोंच की मोटाई और पंख के क्षेत्रों में रंग की गहराई में क्षेत्रीय भिन्नताएं होती हैं। 
कौवों के समूह को अंग्रेजी में मर्डर कहते हैं। 

वैज्ञानिक नाम :  कॉर्वस स्पेंडेन्स
फोटोग्राफर    :राकेश कुमार श्रीवास्तव

अन्य भाषा में नाम:-

Assamese: পাতি কাউৰী; Bengali: পাতিকাক; Gujarati: દેશી કાગડો; Hindi: कौवा; Kannada: ಕಾಗೆ; Malayalam: പേനക്കാക്ക; Marathi:कावळा, गावकावळा; Nepali: घर काग; Oriya: କାଉ; Sanskrit: ग्राम काक, वायस; Tamil: வீட்டுக் காகம்





-© राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"






Saturday, May 26, 2018

मित्र मंडली -71


Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers


मित्रों , 
"मित्र मंडली" का  इकहत्तर वाँ अंक का पोस्ट प्रस्तुत है।इस पोस्ट में मेरे ब्लॉग के फॉलोवर्स/अनुसरणकर्ताओं के हिंदी पोस्ट की लिंक के साथ उस पोस्ट के प्रति मेरी भावाभिव्यक्ति सलंग्न है। पोस्टों का चयन साप्ताहिक आधार पर किया गया है। इसमें दिनांक 21.05.2018  से 27.05.2018 तक के हिंदी पोस्टों का संकलन है।


पुराने मित्र-मंडली पोस्टों को मैंने मित्र-मंडली पेज पर सहेज दिया है और अब से प्रकाशित मित्र-मंडली का पोस्ट 7 दिन के बाद केवल मित्र-मंडली पेज पर ही दिखेगा, जिसका लिंक नीचे दिया जा रहा है : HTTPS://RAKESHKIRACHANAY.BLOGSPOT.IN/P/BLOG-PAGE_25.HTML मित्र-मंडली के प्रकाशन का उद्देश्य मेरे मित्रों की रचना को ज्यादा से ज्यादा पाठकों तक पहुँचाना है। आप सभी पाठकगण से निवेदन है कि दिए गए लिंक के पोस्ट को पढ़ कर, टिप्पणी के माध्यम से अपने विचार जरूर लिखें। विश्वास करें ! आपके द्वारा दिए गए विचार लेखकों के लिए अनमोल होगा। 
प्रार्थी 
राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"

मित्र मंडली -71    
(नोट : मेरे कई ब्लॉग अनुसरणकर्ता  मित्र का पोस्ट जो मुझे बहुत अच्छा लगता है परन्तु मैं उसे मित्र मंडली में सम्मलित नहीं करता क्यूंकि उनकी रचना पहले से ही लोकप्रिय होती है और समयाभाव के कारण मैं उनके पोस्ट पर टिप्पणी  भी नहीं कर पाता हूँ, इसके लिए मैं क्षमा प्रार्थी हूँ।), 

इस सप्ताह के छः रचनाकार 



अपर्णा बाजपई  जी 



जरूरत क्या दलीलों की !

मीना शर्मा जी 

गंगा रे ! तू बहती रहना -लेख --

रेणु  बाला जी  

डाॅक्टर बनने की राह आसान बनाने हेतु एक सार्वजनिक अपील

कविता  रावत जी  



"अपनी मदद की गुहार लगाते  या दूसरों के मदद में अपनी रोटी सेंकते आपने बहुत लोगों को देखा होगा। पढ़ाई के लिए आर्थिक सहायता करना एक उत्तम विचार है।  इस प्लेटफार्म से मैं सुधि पाठकों एवं रचनाकारों से विशेष अनुरोध करता हूँ  कि आप 5 लाख 72 हजार रु.  शायद न दें पाएं परन्तु आप के द्वारा दिया गया एक छोटी सी राशि भी  5 लाख 72 हजार रु. को पूरा करने में एक अहम् योगदान दे सकता है आप ये ना सोचे कि आपके द्वारा दिया गया सौ या हज़ार से क्या होगा। बूंद-बूंद  से ही सागर भरता है। " 

मेरे द्वारा भेजी गई सहायता राशि की मंजूरी रशीद की छाया चित्र नीचे दी गई है :
 

“सुनहरे पंख”

ऋतू असूजा ऋषिकेश जी

"सुनहरे भविष्य की ओर कदम बढ़ाता बचपन को बुजुर्गों के आशीर्वाद एवं शुभकामनाओं को हकीकत की धरातल पर फलीभूत होते देखती सुन्दर रचना। "

आशा है कि मेरा प्रयास आपको अच्छा लगेगा ।  आपका सुझाव अपेक्षित है। अगला अंक 04-06-2018  को प्रकाशित होगा। धन्यवाद ! अंत में ....


Friday, May 25, 2018

महर्षि वाल्मीकि की तपोस्थली: रामतीरथ मंदिर, अमृतसर


 महर्षि वाल्मीकि की तपोस्थली:  रामतीरथ मंदिर, अमृतसर
Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers


भारत में आदि कवि महर्षि वाल्मीकि आश्रम का दावा निम्नलिखित स्थानों पर किया जाता है, जहाँ लव-कुश का जन्म हुआ और सीता जी धरती में समाहित हुई ।

1.  बाल्मीकि नगर जो वर्तमान में बिहार प्रान्त के अंतर्गत राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं को छूती एक-दूसरे से गले मिलती बिहार, नेपाल और उत्तर प्रदेश के बीच बाल्मीकि नगर का यह स्थान महर्षि बाल्मीकि स्थान के नाम से जाना जाता है। स्वर्ण भद्रा ,ताम्रभाद्र और नारायणी जैसी प्राचीन देव नदियों का संगम इसी स्थान पर है। आज स्वर्ण भद्रा को सरस्वती ,ताम्रभद्रा को तमसा कहा जाता है।
2. सीता समाहित स्थल (सीतामढ़ी) मंदिर संत रविदास नगर जिले में स्थित है। यह मंदिर इलाहबाद और वाराणसी के मध्य स्थित जंगीगंज बाज़ार से 11 किलोमीटर दूर गंगा के किनारे स्थित है जहाँ टोंस नदी (तमसा) मिलती है।
3. महर्षि वाल्मीकि की तपोस्थली लालापुर चित्रकूट-इलाहाबाद राष्ट्रीय राजमार्ग में है। झुकेही से निकली तमसा नदी इस आश्रम के समीप से बहती हुई सिरसर के समीप यमुना में मिल जाती है।
4. कानपुर शहर से 17 किलोमीटर दूर बिठूर में ।
5. तुरतुरिया ज़िला रायपुर, छत्तीसगढ़
6. मेरठ से करीब 27 किलोमीटर दूर बागपत का एक गांव है बलैनी में हिंडन नदी के पास स्थित है।
7.  नवादा जिले के मेसकौर प्रखंड के सीतामढ़ी में ।
8. राजस्थान के बारां जिले में केलवाड़ा कस्बे के पास स्थित सीताबाड़ी मंदिर।
9.  मऊ जनपद मुख्यालय से लगभग 12 किलोमीटर दूर दक्षिण पश्चिम दिशा में ।
10. अशोकनगर जिले से करीब 35 किलोमीटर दूरी पर मुंगावली तहसील के करीला गांव में ।
11. अमृतसर से 11 किमी दूर पर रामतीरथ मंदिर है। आज मैं आपको अमृतसर में स्थित महर्षि वाल्मीकि की तपोस्थली की सैर पर ले चलता हूँ  :


रामतीर्थ  मंदिर
आदि कवि संत वाल्मीकि जी के आश्रम में भगवान् श्री राम जी के पुत्र लव और कुश का जन्मस्थल है और यहाँ पर माता सीता जी धरती में समाहित हुई थी । श्री राम तीर्थ मंदिर, महर्षि वाल्मीकि जी को समर्पित, राम तीरथ रोड, कलर,अमृतसर से पश्चिम दिशा में करीब 11 किमी दूर , पंजाब में स्थित है। इस नैयनाभिराम मंदिर का निर्माण पंजाब सरकार की महत्तवाकांक्षी परियोजना थी, और इसका निर्माण  200 करोड़ की राशि की लागत से  किया गया है। यहाँ पर आप आधुनिक एवं पुरातन काल के  संगम को स्वतः महसूस कर सकते है। मंदिर के प्रवेश द्वार पर ही इसकी भव्यता आपको आकृष्ट करती है। सरोवर विहीन मशहूर मंदिर एवं गुरूद्वारे की कल्पना आप पंजाब में नहीं कर सकते और इसी कथनी को सत्यापित करता है सरोवर के बीच बना  भव्य मंदिर। अपनी विशिष्ट शैली से निर्मित यह स्मारक-सह-भगवान वाल्मीकि मंदिर अपने-आप में अनूठा है। मंदिर के प्रागण में 80 फुट का महावीर श्री हनुमान जी की मूर्ति बरबस अपनी ओर आकृष्ट करती है और जब आप सरोवर के बीच बने भव्य मंदिर में प्रवेश करते है तो  5.5 फीट ऊंची 800 किलोग्राम वजन की , स्वर्ण परत से मढ़ी गई भगवान् वाल्मीकि जी की सौम्य एवं विशाल मूर्ति के दर्शन मात्र से दिल में शान्ति के दीप जल उठते हैं।  इस मूर्ति के मूर्तिकार प्रभात राय जी हैं।  1 दिसम्बर 2016 दिन गुरुवार को भगवान् वाल्मीकि जी की मूर्ति की स्थापना के साथ ही अत्याधुनिक स्मारक-सह-भगवान वाल्मीकि मंदिर का उद्घाटन किया गया। यहाँ हर साल दिवाली के पंद्रह  दिन बाद पांच दिनों की अवधि के लिए मेला आयोजित किया जाता है। यहाँ पर अपना मकान बनाने  की मनोकामना पूर्ण करने हेतु श्रद्धालु द्वारा दो-चार ईटों द्वारा घर बना कर, मन्नत मांगने की प्रथा भी  है। आइए आपको तस्वीरों के माध्यम से इस मंदिर का दर्शन करायें : 







 सीता कुण्ड 

 ईट का बना मनौती वाला घर 







-© राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"


Wednesday, May 23, 2018

MEME SERIES - 8


Biweekly Edition (पाक्षिक संस्करण) 23 May'2018 to 05 June'2018

मीम (MEME)

"यह एक सैद्धांतिक इकाई है जो सांस्कृतिक विचारों, प्रतीकों या मान्यताओं आदि को लेखन, भाषण, रिवाजों या अन्य किसी अनुकरण योग्य विधा के माध्यम से एक मस्तिष्क से दूसरे मस्तिष्क में पहँचाने का काम करती है। "मीम" शब्द प्राचीन यूनानी शब्द μίμημα; मीमेमा का संक्षिप्त रूप है जिसका अर्थ हिन्दी में नकल करना या नकल उतारना होता है। इस शब्द को गढ़ने और पहली बार प्रयोग करने का श्रेय ब्रिटिश विकासवादी जीवविज्ञानी रिचर्ड डॉकिंस को जाता है जिन्होने 1976 में अपनी पुस्तक "द सेल्फिश जीन" (यह स्वार्थी जीन) में इसका प्रयोग किया था। इस शब्द को जीन शब्द को आधार बना कर गढ़ा गया था और इस शब्द को एक अवधारणा के रूप में प्रयोग कर उन्होने विचारों और सांस्कृतिक घटनाओं के प्रसार को विकासवादी सिद्धांतों के जरिए समझाने की कोशिश की थी। पुस्तक में मीम के उदाहरण के रूप में गीत, वाक्यांश, फैशन और मेहराब निर्माण की प्रौद्योगिकी इत्यादि शामिल है।"- विकिपीडिया से साभार.

MEME SERIES - 8

By looking at this picture you might be having certain reaction in your mind, through this express your reaction as the title or the  caption. The selected title or caption of few people will be published in the next MEME SERIES POST.

इस तस्वीर को देख कर आपके मन में अवश्य ही किसी भी प्रकार के प्रतिक्रिया उत्पन्न हुई होगी, तो उसी को शीर्षक(TITLE) या अनुशीर्षक(CAPTION)के रूप में व्यक्त करें। चुने हुए शीर्षक(TITLE) या अनुशीर्षक(CAPTION)को अगले MEME SERIES POST में प्रकाशित की जाएगी।

Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers

***********************************************************************************************************

The next edition will be published on JUNE 06, 2018. If you have similar type of picture on your blog, leave a link of your post in my comments section. I will link your posts on my blog in the next edition. Thank you very much dear friends for all your valuable captions for MEME SERIES-7 . Your participation and thoughts are deeply appreciated by me. Some of the best captions are listed below.

अगला संस्करण 06 जून , 2018 को प्रकाशित किया जाएगा। यदि आपके ब्लॉग पर इस तरह की कोई तस्वीर है, तो अपने पोस्ट का लिंक मेरी टिप्पणी अनुभाग में लिख दें। मैं अगले संस्करण में अपने ब्लॉग पर आपका पोस्ट लिंक कर दूंगा। मेरे प्रिय मित्रों, आपके सभी बहुमूल्य शीर्षक(TITLE) या अनुशीर्षक(CAPTION) के लिए धन्यवाद। MEME SERIES-7 के पोस्ट पर आपकी भागीदारी और विचारों ने मुझे बहुत प्रभावित किया, उनमें से कुछ बेहतरीन कैप्शन नीचे उल्लेखित हैं। 

Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers

MEME SERIES-7 के बेहतरीन कैप्शन

बोझ तुम्हारा मेरे सपने---------सुशील कुमार जोशी (SKJoshi)


जीवन का बोझ उठाते सब
हम जहां का बोझ उठाते हैं। ----------------Kusum Kothari

जीवन का सफर है अनवरत जारी
झुकी पीठ ख्वाहिशों का बोझ भारी---------------------sweta sinha 


बोझ से दबी ज़िंदगी-------------------------------------------------Ravindra Singh Yadav

Monday, May 21, 2018

मित्र मंडली -70





मित्रों , 
"मित्र मंडली" का  सत्तर  वाँ अंक का पोस्ट प्रस्तुत है।इस पोस्ट में मेरे ब्लॉग के फॉलोवर्स/अनुसरणकर्ताओं के हिंदी पोस्ट की लिंक के साथ उस पोस्ट के प्रति मेरी भावाभिव्यक्ति सलंग्न है। पोस्टों का चयन साप्ताहिक आधार पर किया गया है। इसमें दिनांक 14.05.2018  से 20.05.2018 तक के हिंदी पोस्टों का संकलन है।


पुराने मित्र-मंडली पोस्टों को मैंने मित्र-मंडली पेज पर सहेज दिया है और अब से प्रकाशित मित्र-मंडली का पोस्ट 7 दिन के बाद केवल मित्र-मंडली पेज पर ही दिखेगा, जिसका लिंक नीचे दिया जा रहा है : HTTPS://RAKESHKIRACHANAY.BLOGSPOT.IN/P/BLOG-PAGE_25.HTML मित्र-मंडली के प्रकाशन का उद्देश्य मेरे मित्रों की रचना को ज्यादा से ज्यादा पाठकों तक पहुँचाना है। आप सभी पाठकगण से निवेदन है कि दिए गए लिंक के पोस्ट को पढ़ कर, टिप्पणी के माध्यम से अपने विचार जरूर लिखें। विश्वास करें ! आपके द्वारा दिए गए विचार लेखकों के लिए अनमोल होगा। 
प्रार्थी 
राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"

मित्र मंडली -70   
(नोट : मेरे कई ब्लॉग अनुसरणकर्ता  मित्र का पोस्ट जो मुझे बहुत अच्छा लगता है परन्तु मैं उसे मित्र मंडली में सम्मलित नहीं करता क्यूंकि उनकी रचना पहले से ही लोकप्रिय होती है और समयाभाव के कारण मैं उनके पोस्ट पर टिप्पणी  भी नहीं कर पाता हूँ, इसके लिए मैं क्षमा प्रार्थी हूँ।), 

इस सप्ताह के पाँच रचनाकार 

सुप्रिया पाण्डेय   जी 

नदिया के दो तट

मीना शर्मा जी 

खुद से कहिये जीने का अंदाज़ बदल लें 

सतीश सक्सेना जी 

आतंकी का धर्म

पंकज भूषण पाठक जी

आशा है कि मेरा प्रयास आपको अच्छा लगेगा ।  आपका सुझाव अपेक्षित है। अगला अंक 28-05-2018  को प्रकाशित होगा। धन्यवाद ! अंत में ....