मेम्बर बने :-

Friday, January 26, 2018

तकनीकी युग के बच्चे




तकनीकी युग के बच्चे 
takaniki yug ke bachche
बारिश के पानी में, 
baarish ke paanee mein, 
कागज़ की नाव चलाना, 
kaagaz kee naav chalaana, 
खुले मैदान में तब, 
khule maidaan mein tab, 
पतंग से पेंच लड़ाना।  
patang se pench ladaana. 
ये कल की थी बातें, 
ye kal kee thee baaten, 
अब नया है ज़माना। 
ab naya hai zamaana. 
खेल को नहीं समझें, 
khel ko nahin samajhen, 
सभी, समय की बर्बादी, 
sabhi, samay kee barbaadee, 
गर्व हो देश को भी,  
garv ho desh ko bhee, 
ऐसा खेल है दिखाना।  
aisa khel hai dikhaana. 
वो कल की थी बातें,
vo kal kee thee baaten,
अब नया है ज़माना। 
ab naya hai zamaana. 
खेल-खेल में सीखें,
khel-khel mein seekhen,
हमसब, ज्ञान भरी बातें, 
hamasab, gyaan bharee baaten, 
हम को तो आता है,
ham ko to aata hai,
ये इंटरनेट चलाना।  
ye intaranet chalaana. 
वो कल की थी बातें,
vo kal kee thee baaten,
अब नया है ज़माना। 
ab naya hai zamaana.
माना अबोध हैं हम,
maana abodh hain ham,
आप निगरानी में रखें,
aap nigaraanee mein rakhen,
मगर न हमको रोकें, 
magar na hamako roken, 
 कंप्यूटरों को चलाना।  
kampyootaron ko chalaana. 
वो कल की थी बातें,
vo kal kee thee baaten,
अब नया है ज़माना। 
ab naya hai zamaana. 
ना रहे पुराने दिन,
na rahe puraane din,
ना ही वो तौर-तरीके,
na hee vo taur-tareeke,
बढ़ना है हमसब को,
badhana hai hamasab ko,
है तकनीक का ज़माना।    
hai takaneek ka zamaana. 
वो कल की थी बातें,
vo kal kee thee baaten,
अब नया है ज़माना। 
ab naya hai zamaana. 
-© राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"
 -© Rakesh Kumaar Shrivastava "Rahi"


Post a Comment