मेम्बर बने :-

Thursday, July 12, 2012

तुम

  तुम



तुमको इतना याद किये की, खुद को भूले हम ,

तेरी हँसी में मेरी ख़ुशी, आसूं में मेरे ग़म ।


दिया मुश्किलों में साथ ऐसा की, आखें हो गई नम ,

तुने प्यार से नजरें झुकाई , फासले हो गए कम।


तेरी साँसों की सरगम ऐसी की, भूले खुद को हम,

बाहें ऐसे  फैलाई की , दूरियाँ हो गई कम ।


तुमको इतना याद..................................                       

2 comments:

  1. सहज सरल सुन्दर अभिव्यक्ति /
    तुम


    तुमको इतना याद किये की, खुद को भूले हम ,
    तेरी हँसी में मेरी ख़ुशी, आसूं में मेरे ग़म ।
    ram ram bhai
    रविवार, 16 सितम्बर 2012
    कानों में होने वाले रोग संक्रमण का समाधान भी है काइरोप्रेक्टिक में
    कानों में होने वाले रोग संक्रमण का समाधान भी है काइरोप्रेक्टिक में

    Acute Otitis Media (Middle Ear Infection
    http://veerubhai1947.blogspot.com/

    ReplyDelete

मेरे पोस्ट के प्रति आपकी राय मेरे लिए अनमोल है, टिप्पणी अवश्य करें!- आपका राकेश कुमार "राही"