मेम्बर बने :-

Monday, April 8, 2019

मित्र मंडली - 116


एक अनुरोध : G+ के जाने से पाठकों एवं रचनाकारों को नए पोस्ट खोजने में परेशानी हो रही है। इस समस्या से निपटने के लिए दो उपाए हैं : 1. अपने ब्लॉग पर रीडिंग लिस्ट को क्लिक कर अपने पसंदीदा ब्लॉग के नए पोस्ट को क्रमवार सूची में देख एवं पढ़ सकते हैं।  2. अगर आपको कोई ब्लॉग अच्छा लगता है तो उस ब्लॉग को अनुशरण करें ताकि उस ब्लॉग का पोस्ट आपके रीडिंग लिस्ट में आ सके। 
धन्यवाद !
आपका - राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही" 
इस सप्ताह के छह रचनाकार 

कुसुम कोठारी जी 

अनुराधा चौहान जी 

आकुल रश्मियाँ

श्वेता सिन्हा जी 

अँधेरे में रौशनी फैलाती और नारी की जज्बातों को व्यक्त करती भावपूर्ण रचना।


मौसम है सुहाना दिल का



लोकेश नशीने जी 

सदियों पुराने रोग इश्क़ पर अपनी खट्टी, मीठी राय प्रस्तुत करती सुंदर रचना।

चुप्पी

नोट : पुराने मित्र-मंडली पोस्टों को मैंने मित्र-मंडली पेज पर सहेज दिया है और अब से प्रकाशित मित्र-मंडली का पोस्ट 7 दिन के बाद केवल मित्र-मंडली पेज पर ही दिखेगा, जिसका लिंक नीचे दिया जा रहा है : https://rakeshkirachanay.blogspot.com/p/blog-page_25.html मित्र-मंडली के प्रकाशन का उद्देश्य मेरे मित्रों की रचना को ज्यादा से ज्यादा पाठकों तक पहुँचाना है। आप सभी पाठकगण से निवेदन है कि दिए गए लिंक के पोस्ट को पढ़ कर, टिप्पणी के माध्यम से अपने विचार जरूर लिखें। विश्वास करें ! आपके द्वारा दिए गए विचार लेखकों के लिए अनमोल होगा।



9 comments:

  1. बहुत सुन्दर मित्र मण्डली अंक प्रस्तुति।

    ReplyDelete
  2. मेरी अनुभूतियों को इस प्रतिष्ठित मंच पर स्थान देने के हृदय से आभार राकेश भाई साहब।
    सकारात्मकता की बात करने वाले अनेक लोगों को मैंने कुछ इस तरह का स्वांग रचते देखा,तो सोचा कि कविता तो आती नहीं लिखने, फिर सोचा कि पत्रकारों वाली कलम का ही प्रयोग क्यों न कर लिया जाएं। साहित्यकारों के बाद उन्हीं की जिम्मेदारी बनती है, सच को आईना दिखलाने की।
    प्रणाम।

    ReplyDelete
  3. बहुत सुंदर अंक सभी रचनाकारों को बहुत बहुत बधाई मेरी रचना को मित्र मंडली में स्थान देने के लिए आपका हार्दिक आभार राकेश जी

    ReplyDelete
  4. पटल का बदला हुआ स्वरूप अत्यंत ही आकर्षक है आदरणीय राकेश जी, और रचनाओं का चयन भी। ।
    इस विशेष प्रस्तुति मे छह रचनाकारों की चयनित सूची में खुद को भी पाकर गौरवान्वित महसूस कर रहा हूँ । आकाश हार्दिक आभार । समस्त रचनाकारों को साधुवाद ।

    ReplyDelete
  5. सुंदर और अलग अलग भावों से सजी रचनाएँ है आज के अंक में..साथ में संलग्न आपका बहुमूल्य विश्लेषण रचना का मान बढ़ा जाते हैं।
    आपका हृदयतल से अति आभार मेरी रचना को भी शामिल करने के लिए।

    ReplyDelete
  6. अनमोल अंक संयोजन आदरणीय राकेश जी | सभी रचनाकारों को सस्नेह अभिनन्दन और शुभकामनायें | आपको भी हार्दिक बधाई |

    ReplyDelete
  7. बहुत सुंदर रचनाओं के शानदार संकलन में अपनी रचना आपकी विशिष्ट टिप्पणी के साथ देख बहुत खुशी हुई,
    बहुत बहुत आभार राकेश जी ।
    आपकी हर रचना के साथ सार भाव बहुत ही सुंदर और गहरे।
    सभी रचनाकारों को बधाई।
    मित्र मंडली में मेरी रचना को शामिल करने के लिए फिर से तहे दिल से शुक्रिया।

    ReplyDelete
  8. बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति और शानदार रचनाएँ आदरणीय
    सादर

    ReplyDelete

मेरे पोस्ट के प्रति आपकी राय मेरे लिए अनमोल है, टिप्पणी अवश्य करें!- आपका राकेश कुमार "राही"