मेम्बर बने :-

Monday, April 30, 2018

मित्र मंडली -67



मित्रों , 
"मित्र मंडली" का  सड़सठ  वाँ अंक का पोस्ट प्रस्तुत है।इस पोस्ट में मेरे ब्लॉग के फॉलोवर्स/अनुसरणकर्ताओं के हिंदी पोस्ट की लिंक के साथ उस पोस्ट के प्रति मेरी भावाभिव्यक्ति सलंग्न है। पोस्टों का चयन साप्ताहिक आधार पर किया गया है। इसमें दिनांक 23.04.2018  से 29.04.2018 तक के हिंदी पोस्टों का संकलन है।


पुराने मित्र-मंडली पोस्टों को मैंने मित्र-मंडली पेज पर सहेज दिया है और अब से प्रकाशित मित्र-मंडली का पोस्ट 7 दिन के बाद केवल मित्र-मंडली पेज पर ही दिखेगा, जिसका लिंक नीचे दिया जा रहा है : HTTPS://RAKESHKIRACHANAY.BLOGSPOT.IN/P/BLOG-PAGE_25.HTML मित्र-मंडली के प्रकाशन का उद्देश्य मेरे मित्रों की रचना को ज्यादा से ज्यादा पाठकों तक पहुँचाना है। आप सभी पाठकगण से निवेदन है कि दिए गए लिंक के पोस्ट को पढ़ कर, टिप्पणी के माध्यम से अपने विचार जरूर लिखें। विश्वास करें ! आपके द्वारा दिए गए विचार लेखकों के लिए अनमोल होगा। 
प्रार्थी 
राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"

मित्र मंडली -67  
(नोट : मेरे कई ब्लॉग अनुसरणकर्ता  मित्र का पोस्ट जो मुझे बहुत अच्छा लगता है परन्तु मैं उसे मित्र मंडली में सम्मलित नहीं करता क्यूंकि उनकी रचना पहले से ही लोकप्रिय होती है और समयाभाव के कारण मैं उनके पोस्ट पर टिपण्णी भी नहीं कर पाता हूँ, इसके लिए मैं क्षमा प्रार्थी हूँ। ), 

इस सप्ताह के नौ रचनाकार 


Meri Jubani (मेरी जुबानी ) 

श्रमिक दिवस ------ श्रम का उपासना पर्व --- लेख


रेणु  बाला जी  

"किसी विषय पर लेख लिखना दुरूह कार्य है और मानवीय संवेदना के बगैर तो आप मजदूर दिवस जैसे विषय पर लेख लिख ही नहीं सकते। लोकतंत्र में तो हम सभी मजदूर हैं परन्तु रेणु जी ने अशिक्षित मजदूरों की व्यथा को इस  सुंदर लेख में  व्यक्त किया है जो सर्वमान्य है।  मजदूर शिक्षित हो रहें हैं परन्तु इसकी रफ़्तार बहुत धीमी है। हम सब शिक्षित लोगों का धर्म है की काम से काम एक व्यक्ति को शिक्षित करने में अपना अनुदान अवश्य दें और मजदूरों के साथ उचित व्यवहार करें। "


भेड़ाघाट (जबलपुर) नौका विहार

कविता  रावत जी  

"जबलपुर में मशहूर पर्यटक स्थल: धुआंधार प्रपात, चौसठ योगिनी मंदिर, मदन महल, बैलेंसिंग रॉक एवं अन्य अनेक स्थल हैं , अभी आप शांत-सौम्य भेड़ाघाट (जबलपुर) नौका विहार का आनंद लें।"  


नकली मूर्ती

"ज़िन्दगी के विभिन्न रंगों से सजी रहती है इनकी कहानियाँ।  ऐसी ही जीवन के एक रंग से रु-ब-रु कराती एक कहानी का आनंद आप भी लें। "

ज़िंदगी का सफ़र

रवींद्र सिंह यादव जी 

" ज़िन्दगी के सफर में अपने हालात के ख्यालों को व्यक्त करती सुन्दर रचना। "


आशा है कि मेरा प्रयास आपको अच्छा लगेगा ।  आपका सुझाव अपेक्षित है। अगला अंक 07-05-2018  को प्रकाशित होगा। धन्यवाद ! अंत में ....

Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers
मेरी प्रस्तुति  :

1.MEME SERIES - 6

Post a Comment