मेम्बर बने :-

Monday, December 11, 2017

मित्र मंडली -47



मित्रों ,
"मित्र मंडली" का सैतालीसवाँ अंक का पोस्ट प्रस्तुत है। इस पोस्ट में मेरे ब्लॉग के फॉलोवर्स/अनुसरणकर्ताओं के हिंदी पोस्ट की लिंक के साथ उस पोस्ट के प्रति मेरी भावाभिव्यक्ति सलंग्न है। पोस्टों का चयन साप्ताहिक आधार पर किया गया है।  इसमें  दिनांक 04.12.2017  से 10.12.2017  तक के हिंदी पोस्टों का संकलन है।

पुराने मित्र-मंडली पोस्टों को मैंने मित्र-मंडली पेज पर सहेज दिया है और अब से प्रकाशित मित्र-मंडली का पोस्ट 7 दिन के बाद केवल मित्र-मंडली पेज पर ही दिखेगा, जिसका लिंक नीचे दिया जा रहा है  :-

HTTPS://RAKESHKIRACHANAY.BLOGSPOT.IN/P/BLOG-PAGE_25.HTML
मित्र-मंडली के प्रकाशन का उद्देश्य मेरे मित्रों की रचना को ज्यादा से ज्यादा पाठकों  तक पहुँचाना है। 

आप सभी पाठकगण से निवेदन है कि दिए गए लिंक के पोस्ट को पढ़ कर, टिप्पणी  के माध्यम से अपने विचार जरूर लिखें। विश्वास करें ! आपके द्वारा दिए गए विचार लेखकों के लिए अनमोल होगा।  

प्रार्थी 

राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"

मित्र मंडली -47      

 इस सप्ताह के नौ रचनाकार 

"फरके रोटियों की कौन पैदा करता हैं।

अनु अन्न लागुरी  जी 

जब हम बने सर्पमित्र !

मीना शर्मा जी 

उड़ चला है वक्त.....

यशोदा अग्रवाल  

"वक्त के साथ सबको चलना है नहीं तो असंतोष, पछतावा और  दुःख के सिवा कुछ नहीं मिलने वाला। सुन्दर सीख देती कविता।"

कविता "तुम मेरे मम्मी-पापा हो"


राधा तिवारी  जी  

"मैं"

मीना भारद्वाज  जी 

फिर चोट खाई दिल ने ---कविता --

रेणु  बाला जी  

हाँ मैं ख़्वाब लिखती हूँ

श्वेता सिन्हा जी 

व्यर्थ का अर्थ

पुरषोत्तम कुमार सिन्हा जी 

सखी : सागर की मोती

प्रकाश साह जी

आशा है कि मेरा प्रयास आपको अच्छा लगेगा ।  आपका सुझाव अपेक्षित है। अगला अंक 18-12-2017  को प्रकाशित होगा। धन्यवाद ! अंत में ....

मेरी दो प्रस्तुति  : 

1. फोटोग्राफी : पक्षी 38 (Photography : Bird 38 )



Post a Comment