मेम्बर बने :-

Thursday, August 17, 2017

फोटोग्राफी : पक्षी 3 (Photography : Bird 3 )

Photography: (dated 30 05 2017 07: 30 AM )

Place : Kapurthala, Punjab, India

Brahminy starling

The Brahmani Manya bird is a member of the Starling family, usually seen in open spaces on the plains of South Asia or in small herds. It is usually seen in pairs or small flocks. Brahmini mayna has a loose black crest on the head. Its beak is yellow with blue base.

Scientific name:  Sturnia pagodarum
Photographer :   Rakesh kumar srivastava

ब्राह्मणी मैना पक्षी, स्टार्लिंग परिवार का सदस्य है यह आम तौर पर दक्षिण एशिया के मैदानों पर खुली जगहों में जोड़े या छोटे झुंडों में दिखते हैं।
ब्राह्मणी मैना के सिर पर काले रंग का  एक ढीली शिखा होती है। इसकी चोंच,  नीला आधार के साथ पीले रंग का होता है।
वैज्ञानिक नाम: स्टर्निया पेगाडोरम
फोटोग्राफर: राकेश कुमार श्रीवास्तव

अन्य भाषा में नाम :-


Bengali: বামুনি কাঠশালিকBhojpuri: पूहईब्राह्मणी मैना, Hindi: कालासिर मैनाचन्ना हुडी, Kannada: ಕರಿತಲೆ ಕಬ್ಬಕ್ಕಿ, Malayalam: കരിന്തലച്ചിക്കാളി, Marathi: ब्राह्मणी मैनाभांगपाडी मैनापोपई मैना, Nepali: जुरे सारौँजुरे रुपी, Punjabi: ਬ੍ਰਾਹਮਣੀ ਮੈਨਾ, Sanskrit: शङ्करा









©  राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"







Monday, August 14, 2017

मित्र मंडली - 30




मित्रों ,
"मित्र मंडली" का तीसवां अंक का पोस्ट प्रस्तुत है। इस पोस्ट में मेरे ब्लॉग के फॉलोवर्स/अनुसरणकर्ताओं के हिंदी पोस्ट की लिंक के साथ उस पोस्ट के प्रति मेरी भावाभिव्यक्ति सलंग्न है। पोस्टों का चयन साप्ताहिक आधार पर किया गया है।  इसमें  दिनांक 07.08.2017  से 13.08.2017  तक के हिंदी पोस्टों का संकलन है।

पुराने मित्र-मंडली पोस्टों को मैंने मित्र-मंडली पेज पर सहेज दिया है और अब से प्रकाशित मित्र-मंडली का पोस्ट 7 दिन के बाद केवल मित्र-मंडली पेज पर ही दिखेगा, जिसका लिंक नीचे दिया जा रहा है  :-
HTTPS://RAKESHKIRACHANAY.BLOGSPOT.IN/P/BLOG-PAGE_25.HTML
मित्र-मंडली के प्रकाशन का उद्देश्य मेरे मित्रों की रचना को ज्यादा से ज्यादा पाठकों  तक पहुँचाना है। 

आप सभी पाठकगण से निवेदन है कि दिए गए लिंक के पोस्ट को पढ़ कर, टिप्पणी  के माध्यम से अपने विचार जरूर लिखें। विश्वास करें ! आपके द्वारा दिए गए विचार लेखकों के लिए अनमोल होगा।  

प्रार्थी 

राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"

इस सप्ताह के सात रचनाकार 

मित्र मंडली - 30

 अष्टावक्र गीता - भाव पद्यानुवाद (तेतालीसवीं कड़ी) 

कैलाश शर्मा जी 

अष्टावक्र गीता अद्वैत वेदान्त का ग्रन्थ है।राजा जनक एवं अष्टावक्र के संवाद को अष्टावक्र गीता कहते है। कैलाश जी सरल शब्दों में इस गीता को हिंदी में  और अर्थ  इंग्लिश में लिखा है। आप भी आत्मज्ञान लें। 

''बेग़ैरत'' 

ध्रुव सिंह जी 

शोर मचाती आँखें

पुरषोत्तम कुमार सिन्हा जी 


निज रचनाएं,दर्पण मन का, दर्द समझते, मेरे गीत

सतीश सक्सेना जी 

आजकल के समाज के दर्द को सिद्दत से मासूस करती कविता, कवि चाह कर भी प्रेम, भाईचारा, सदभाव को समर्पित गीत नहीं लिख पा रहा है। सुन्दर भावपूर्ण कविता।  

"छोटू"

न जाने कितने छोटू है इस भारत में, उन्हें आज भी इंतज़ार है अपनी आज़ादी का।  कब उनके हिस्से की पढ़ाई एवं बचपना मिल पायेगा। छोटू की मार्मिक दिनचर्या, मन को विचलित करती है। सुंदर भावाव्यक्ति। 

कविता " भारत देश निराला "

 अर्चना सक्सेना जी 

भारत के विकास  में आ रहे अवरोध को ख़त्म कर, विकास की प्रगति का शंखनाद करती सुन्दर कविता। 

उम्मीद

मीना शर्मा जी 

भारत के विकास  में आ रहे अवरोध को ख़त्म कर विकास की प्रगति का शंखनाद करती सुन्दर कविता। 

 

आशा है कि मेरा प्रयास आपको अच्छा लगेगा ।  आपका सुझाव अपेक्षित है। अगला अंक 21 -08-2017  को प्रकाशित होगा। धन्यवाद ! अंत में ....


स्वतंत्रता दिवस एवं कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ एवं बधाईयाँ।



एवं मेरी फोटोग्राफी   :-

फोटोग्राफी : पक्षी 20 (Photography : Bird 20 )




Friday, August 11, 2017

फोटोग्राफी : पक्षी 20 (Photography : Bird 20 )

Photography: (dated 17 05 2017 06 : 40 AM )

Place : Kapurthala, Punjab, India

Rufous treepie

The rufous treepie is a treepie, native to the Indian Subcontinent and adjoining parts of Southeast Asia. It is a member of the crow family, Corvidae. It is long tailed and has loud musical calls making it very conspicuous. It is found commonly in open scrub, agricultural areas, forests as well as urban gardens. Like other corvids.  it is very adaptable, omnivorous and opportunistic in feeding.

Scientific name:  Dendrocitta vagabunda
Photographer :   Rakesh kumar srivastava

रूफस ट्रीपेई एक वृक्षीय पक्षी है, जो भारतीय उपमहाद्वीप के मूल और दक्षिणपूर्व एशिया के आस-पास के हिस्सों में स्थित है। यह कौवा परिवार का एक सदस्य है, कोर्विदे। इसकी लंबी पूंछ एवं तीव्र संगीतमय आवाज़ विशिष्ट है। यह आमतौर पर खुली झाड़ियों, कृषि क्षेत्रों, जंगलों और शहरी उद्यानों में पाया जाता है। अन्य कोर्विड्स की तरह यह बहुत अनुकूलनीय, सर्व-भक्षी एवं अवसरवादी है।
वैज्ञानिक नाम: डेंड्रोकिता वांबुन्डा
फोटोग्राफर: राकेश कुमार श्रीवास्तव

अन्य भाषा में नाम :-

Assamese: কোকলোঙা; Bengali: খয়েরি হাঁড়িচাচা; Gujarati: ખેરખટ્ટો, ખખેડો; Hindi: महालत; Kannada: ಮಟಪಕ್ಷಿ; Malayalam: ഓലഞ്ഞാലി; Marathi: टकाचोर, भेरा, घिगिरवा;
Nepali: कोकले; Sanskrit: करायिका; Tamil: வால் காக்கை




©  राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"







Thursday, August 3, 2017

एक भारत श्रेष्ठ भारत










एक भारत श्रेष्ठ भारत

हमसब भारतियों ने मिलकर,
एकता का  ऐसा अलख जगाया  है । 
एक भारत श्रेष्ठ भारत का नारा, 
हम ने दिल से अपनाया है ।

मूलमंत्र एकता का इसमें,
हमसब ने जन-जन को  समझाया है।
समझा है राज्यों की विरासत को,
संस्कृति को अपनाया है।

भेद नहीं हम भारतियों में,
भाईचारे का अलख जगाया है। 
सबका साथ, सबका विकास के मर्म,
को हमसब ने अपनाया है।

नहीं लड़ेंगे, साथ रहेंगे,
आपसी मत-भेदों को मिटाया है।
सांस्कृतिक कार्यक्रम के द्वारा,
एक-दूजे  को अपनाया है। 

समझ गए हम सभी भारतीय,
बनाना ही है भारत को विश्व गुरु, 
इसलिए, भारत-विकास के पहिये को,
अपनी शक्ति से चलाया है। 

©  राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"