मेम्बर बने :-

Monday, May 29, 2017

मित्र मंडली - 21



मित्रों ,
"मित्र मंडली" का इक्कीसवें अंक का पोस्ट प्रस्तुत है। इस पोस्ट में मेरे ब्लॉग के फॉलोवर्स/अनुसरणकर्ताओं के हिंदी पोस्ट की लिंक के साथ उस पोस्ट के प्रति मेरी भावाभिव्यक्ति सलंग्न है। पोस्टों का चयन साप्ताहिक आधार पर किया गया है।  इसमें  दिनांक 22.05.2017  से 28.05.2017  तक के हिंदी पोस्टों का संकलन है।

पुराने मित्र-मंडली पोस्टों को मैंने मित्र-मंडली पेज पर सहेज दिया है और अब से प्रकाशित मित्र-मंडली का पोस्ट 7 दिन के बाद केवल मित्र-मंडली पेज पर ही दिखेगा, जिसका लिंक नीचे दिया जा रहा है  :-HTTPS://RAKESHKIRACHANAY.BLOGSPOT.IN/P/BLOG-PAGE_25.HTML
"खेद है कि तकनीकी कारणों से ग्यारहवीं कड़ी उपरोक्त लिंक पर उपलब्ध नहीं है।" 

मित्र-मंडली के प्रकाशन का उद्देश्य मेरे मित्रों की रचना को ज्यादा से ज्यादा पाठकों  तक पहुँचाना है। 

आप सभी पाठकगण से निवेदन है कि दिए गए लिंक के पोस्ट को पढ़ कर, टिप्पणी के माध्यम से अपने विचार जरूर लिखें। विश्वास करें ! आपके द्वारा दिए गए विचार लेखकों के लिए अनमोल होगा।  

प्रार्थी 

राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"

मित्र मंडली - 21


अष्टावक्र गीता अद्वैत वेदान्त का ग्रन्थ है।राजा जनक एवं अष्टावक्र के संवाद को अष्टावक्र गीता कहते है। कैलाश जी सरल शब्दों में इस गीता को हिंदी में  और अर्थ  इंग्लिश में लिखा है। ज्ञान,मुक्ति एवं वैराग्य की कड़ी में यह पोस्ट योगी को समर्पित है। कैलाश जी को इस कार्य के लिए बधाई देता हूँ।  



 अफसाना शेख चिल्ली का

कोशिश करें लिखें भेड़िये अपने अपने अन्दर के थोड़े थोड़े लिखना आता है सब को सब आता है

कथनी एवं करनी के फर्क को सिद्दत से महसूस करने पर दर्द होता है।  खुद को नंगा, विरले ही कर पाते हैं। धीरे-धीरे भेड़िये  बनने  की प्रक्रिया में हम सभी हैं, जो दुःखद है । 

आशा है कि मेरा प्रयास आपको अच्छा लगेगा ।  आपका सुझाव अपेक्षित है। अगला अंक 05-06-2017  को प्रकाशित होगा। धन्यवाद ! अंत में ....

मेरी दो  पेशकश :-


खामोशियाँ 

फोटोग्राफी : पक्षी 11 (Photography : Bird 11 )



Friday, May 26, 2017

फोटोग्राफी : पक्षी 11 (Photography : Bird 11 )

Photography: (dated 15 04 2017 07: 35  AM )

Place : Kapurthala, Punjab, India

Rose-ringed parakeet

The rose-ringed parakeet , also known as the ring-necked parakeet, is a gregarious tropical Afro-Asian parakeet species that has an extremely large range.The adult male sports a black neck-ring and pink nape-band while the female and immature birds either show no neck rings, or display shadow-like pale to dark grey neck-rings.

Scientific name:  Psittacula krameri
Photographer :   Rakesh kumar srivastava


वैज्ञानिक नाम: सिटाक्यूला क्रेमेरी
फोटोग्राफर: राकेश कुमार श्रीवास्तव

तोता (पित्तात्क्राम क्रेमेरी), जिसे रिंग-नेक्ड पेराकेट के रूप में भी जाना जाता है, यह एक बहुत ही प्रचलित उष्णकटिबंधीय अफ्रीकी-एशियाई पैराकीट प्रजाति है जिसमें एक बहुत बड़ी रेंज है।वयस्क पुरुष गर्दन पर एक काला छल्ला एवं गर्दन के पीछे गुलाबी छल्ला होता है, जबकि महिला और अपरिपक्व पक्षी को कोई गर्दन के छल्ले नहीं दिखते हैं, या छाया की तरह पीले-गहरे भूरे रंग के छल्ले दिखते हैं।

अन्य भाषा में नाम (स्रोत - http://birds.thenatureweb.net/):-
Assamese: গলমণিকা, Bhojpuri: देसी सुग्गा, French: Perruche à collier, Gujarati: સૂડો, Hindi: तोता, मिठू, लिबर तोता, Kannada: ಗುಲಾಬಿ ಕೊರಳಿನ ಗಿಳಿ, Malayalam: മോതിരത്തത്ത, നാട്ടുതത്ത, Marathi: पोपट, कीर, राघू, कंठवाला पोपट, Nepali: कण्ठे सुगा, Tamil: சிவப்பு ஆரக்கிளி, செந்தார்ப் பைங்கிளி


तोती







©  राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"





Wednesday, May 24, 2017

खामोशियाँ

 
       
खामोशियाँ


तेरी खामोशियाँ, मुझको बेचैन करती है,
हमारे बीच की दूरियाँ, बेचैन करती है। 

तेरी जुल्फ़ों को छूकर चली है जो ये हवा,
हवा में बसी खुशबू, मुझे बेचैन करती है। 

सबसे मिलती हो खुल कर, सभी ख़ास हैं तेरे,
यूँ मुझे अजनबी समझना, बेचैन करती है। 

जब तुम थी मेरे साथ, ये इल्म ना था मुझको,
तेरी कमी मेरे घर में, बेचैन करती है। 

माना खता थी मेरी, दिल तेरा दुखाया था,
तुझे न मनाने की जिद, बेचैन करती है। 

बड़ी उम्मीद ले कर तेरे दर पर आया हूँ,
नाउम्मीद का ख्याल भी, बेचैन करती है। 

अब जो भी हो, दिल की बात कह रहा है “राही”,
तेरी खामोशियाँ, अब भी, बेचैन करती है। 

©  राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही" 




Monday, May 22, 2017

मित्र मंडली - 20



मित्रों ,
"मित्र मंडली" का बीसवें अंक का पोस्ट प्रस्तुत है। इस पोस्ट में मेरे ब्लॉग के फॉलोवर्स/अनुसरणकर्ताओं के हिंदी पोस्ट की लिंक के साथ उस पोस्ट के प्रति मेरी भावाभिव्यक्ति सलंग्न है। पोस्टों का चयन साप्ताहिक आधार पर किया गया है।  इसमें  दिनांक 15.05.2017  से 21.05.2017  तक के हिंदी पोस्टों का संकलन है।

पुराने मित्र-मंडली पोस्टों को मैंने मित्र-मंडली पेज पर सहेज दिया है और अब से प्रकाशित मित्र-मंडली का पोस्ट 7 दिन के बाद केवल मित्र-मंडली पेज पर ही दिखेगा, जिसका लिंक नीचे दिया जा रहा है  :-HTTPS://RAKESHKIRACHANAY.BLOGSPOT.IN/P/BLOG-PAGE_25.HTML
"खेद है कि तकनीकी कारणों से ग्यारहवीं कड़ी उपरोक्त लिंक पर उपलब्ध नहीं है।" 

मित्र-मंडली के प्रकाशन का उद्देश्य मेरे मित्रों की रचना को ज्यादा से ज्यादा पाठकों  तक पहुँचाना है। 

आप सभी पाठकगण से निवेदन है कि दिए गए लिंक के पोस्ट को पढ़ कर, टिप्पणी के माध्यम से अपने विचार जरूर लिखें। विश्वास करें ! आपके द्वारा दिए गए विचार लेखकों के लिए अनमोल होगा।  

प्रार्थी 

राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"

मित्र मंडली - 20


                                                                    
 

व्यस्त हूँ मैं !




                                                                    
 

"सैनिक---देश के"

सैनिकों की अंदुरुनी समस्या को उजागर कराती सुन्दर कविता। 




आशा है कि मेरा प्रयास आपको अच्छा लगेगा ।  आपका सुझाव अपेक्षित है। अगला अंक 29-05-2017  को प्रकाशित होगा। धन्यवाद ! अंत में ....

मेरी दो  पेशकश :-


हवेली - जालंधर (पार्ट- 1)

हवेली - जालंधर (पार्ट- 2 )




Friday, May 19, 2017

हवेली - जालंधर (पार्ट- 2)

हवेली : एक थीम पर आधारित शाकाहारी रेस्टोरेंट

पार्ट- 2 

रंगला पंजाब एवं हेरिटेज 

अभी तक आपने ओपन फ़ूड कोर्ट और बैंक्वेट हॉल के बारे में जाना और उसकी कुछ तस्वीरें भी देखी और रंगला पंजाब का प्रवेश द्वार का नज़ारा भी देखा। अब आगे ......

3. रंगला पंजाब एक ठेठ पंजाबी गांव से आपको रु-ब-रु कराता है। एक बार जब आप इस जगह में प्रवेश करते हैं, तो आप पुराने जमाने के ठेठ पंजाबी गांव की भव्यता एवं वहाँ की सादगी को एक साथ अनुभव करेंगे।

जगह की सजावट बहुत ही बारीकी के साथ स्थापित की गई है, जो पंजाब के पुरानी संस्कृति को विभिन्न कार्यों में लगे पंजाबियों की विभिन्न मूर्तियां द्वारा जैसे नाच, पत्थर खेलना, पानी लाने आदि के माध्यम से प्रदर्शित किया गया है। एक सूबेदार के घर की प्रतिकृति बनाई गई है उस ज़माने के पीतल के बर्तन, जौहरी की दुकान के साथ एक रसोईघर और एक गांव का मॉक-अप मॉडल भी है, जिससे पर्यटकों को उस युग की वास्तविक झलक मिलती है। कहीं-कहीं पर नज़रों का धोखा हो जाता है कि ज्योतिषी जी, बफेट हॉल का दरबान, पानी पुड़ी एवं चाट का पर्ची काटने वाला और निकास द्वार का दरबान कहीं मूर्तियाँ तो नहीं है। 

इसका प्रवेश शुल्क केवल भ्रमण हेतु 50 रूपए और भ्रमण एवं भोजन के साथ 350 रूपए है। 

आइए ! रंगला पंजाब के अंदर ठेठ पंजाबी संस्कृति को कुछ तस्वीरों के माध्यम से देखें:-  





































4.  हेरिटेज एवं हेरिटेज एम्प्रेस  में आप जन्मदिन, विवाह समारोह एवं अन्य पार्टी आयोजित कर सकते है।  हेरिटेज एम्प्रेस के तीन खंड है : 1. राज महल, 2. नूर महल एवं 3. मुमताज़ महल।

नोट : हवेली का कार पार्किंग बिलकुल मुफ्त है। 

 समाप्त!

©  राकेश कुमार श्रीवास्तव "राही"