मेम्बर बने :-

Thursday, July 12, 2012

तुम

  तुम



तुमको इतना याद किये की, खुद को भूले हम ,

तेरी हँसी में मेरी ख़ुशी, आसूं में मेरे ग़म ।


दिया मुश्किलों में साथ ऐसा की, आखें हो गई नम ,

तुने प्यार से नजरें झुकाई , फासले हो गए कम।


तेरी साँसों की सरगम ऐसी की, भूले खुद को हम,

बाहें ऐसे  फैलाई की , दूरियाँ हो गई कम ।


तुमको इतना याद..................................                       

Post a Comment